31.1 C
Delhi
Wednesday, May 22, 2024

दिल्ली में कोरोना से निपटने के लिए और सख्त कदम, फिर से लाॅकडाउन करने की मांग

इंडियादिल्ली में कोरोना से निपटने के लिए और सख्त कदम, फिर से लाॅकडाउन करने की मांग

दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार को एक प्रस्ताव भेजा है जिसमें सीमित पैमाने पर फिर से लाॅकडाउन करने की अनुमति मांगी गई है।

नई दिल्ली: केजरीवाल सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से निपटने के लिए सख्त कदम उठाने की तैयारी कर रही है। जिसमें कुछ क्षेत्रों में पुन: लॉकडाउन और शादी समारोहों में भाग लेने वालों की संख्या को 50 तक सीमित करने पर विचार किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को यह संकेत दिया। श्री केजरीवाल ने मीडिया को बताया कि राज्य सरकार ने केंद्र सरकार को एक प्रस्ताव भेजा है जिसमें सीमित पैमाने पर फिर से लाॅकडाउन की अनुमति मांगी गई है।

यदि प्रस्ताव को मंजूरी मिल जाती है, तो अधिक संक्रमण वाले क्षेत्रों को फिर से लाॅकडाउन लगाया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ बाज़ारों में दिवाली के त्योहार के दौरान बहुत लापरवाही होती है। बाजार में आए लोगों ने न तो मास्क पहने थे, न ही उन्होंने शारीरिक दूरी का पालन कक थी। उन्होंने कहा कि अगर बाज़ारों ने मास्क और शारीरिक दूरी के सिद्धांतों का पालन नहीं किया और वह स्थान कोरोना वायरस के लिए हाॅटस्पाॅट का केंद्र बन सकता है, तो इन बाज़ारों को सीमित समय के लिए फिर से लाॅकडाउन लगाने की अनुमति दी जानी चाहिए। इस प्रकार का प्रस्ताव केंद्र को भेजा जा रहा है।

शादी में लगभग 200 मेहमानों को शामिल होने की अनुमति दी गई थी, लेकिन बढ़ते कोरोना वायरस को देखते हुए लेफ्टिनेंट गवर्नर को संख्या 50 तक सीमित करने का प्रस्ताव भेजा गया है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कल कहा था कि फिर से लाॅकडाउन लगाने का कोई इरादा नहीं

गौरतलब है कि दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन जैन ने कल कहा था कि फिर से लाॅकडाउन लगाने का कोई इरादा नहीं है। श्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस के सामान्यीकरण के साथ, शादियों में मेहमानों की संख्या 50 से बढ़कर 200 हो जाएगी।

उन्होंने कहा कि सरकारी और निजी अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या पर्याप्त है, लेकिन आईसीयू के साथ बिस्तरों की कमी है जिसके लिए केंद्र सरकार ने सहायता प्रदान की है। उन्होंने कहा कि सभी सरकारें “कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए एक साथ मिलकर काम कर रही हैं, लेकिन लोगों को सावधान रहने की सबसे बड़ी जरूरत है।”

उन्होंने कहा कि “बड़ी संख्या में लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं। मेरी अपील है। “कृपया मास्क पहनें और शरीरिक दूरी का पालन करें।” रविवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ एक उच्च-स्तरीय बैठक में दिल्ली सरकार को 750 आईसीयू बेड प्रदान करने का निर्णय लिया गया।

दिल्ली के भीतर, कोरोना वायरस नवंबर के महीने में अधिक खतरनाक हो रहा है। नए पीड़ितों के साथ कोरोना वायरस से मौत का आंकड़ा तेजी से बढ़ा है। पिछले 24 घंटों में, देश के सबसे खराब राज्य महाराष्ट्र के दैनिक औसत से अधिक, दिल्ली में 99 लोगों की मौत हो चुकी हैं। नवंबर में अब तक, दिल्ली में कोरोना वायरस से 1,100 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं।

[हम्स लाईव]

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles