25.6 C
Delhi
Saturday, April 20, 2024

आनंदीबेन ने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के उत्पाद को बेचने के लिए सेंटर बनाने के दिए आदेश

अर्थव्यवस्थाआनंदीबेन ने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के उत्पाद को बेचने के लिए सेंटर बनाने के दिए आदेश

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने निर्देश देते हुए कहा कि स्वयं सहायता समूह की महिलाएं जो उत्पाद बनाती हैं उसे बेचने के लिए सेंटर बनाए, जहां से लोग महिलाओं से सामान खरीद सके।

जौनपुर: उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के उत्पाद को बेचने के लिए सेंटर बनाये जाय, जिसका लाभ उन्हें मिल सकें।

श्रीमती पटेल ने आज  यहां वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के सभा कक्ष में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं तथा किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) के साथ बैठक की। इस मौके उन्होंने समूह की महिलाओं से उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी प्राप्त की।

इस मौके पर राज्यपाल को स्वयं सहायता समूह की महिलाओं द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी देते हुए बताया कि आचार, अगरबत्ती, मोमबत्ती, सिलाई-कढ़ाई तथा अन्य उत्पाद बनाने का कार्य किया जा रहा है। राज्यपाल ने निर्देश देते हुए कहा कि स्वयं सहायता समूह की महिलाएं जो उत्पाद बनाती हैं उसे बेचने के लिए सेंटर बनाए, जहां से लोग महिलाओं से सामान खरीद सके।

बैठक में जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने बताया कि 27 राशन की दुकान स्वयं सहायता समूह को आवंटित की गई है ,जहां प्रति दुकान से पांच हजार रुपये प्रति माह की आमदनी हो रही है।राज्यपाल ने निर्देश दिया कि दुकानों पर राशन के अतिरिक्त अन्य उत्पाद बेचने की भी अनुमति समूह की महिलाओं को दी जाए।

श्री वर्मा ने बताया कि समूह के द्वारा विद्युत बिल जमा करने एवं आईसीडीएस के तहत ड्राई राशन वितरण करने का कार्य किया जा रहा है। विकासखंड बक्सा में समूह की महिलाओं द्वारा मशरूम का उत्पादन किया जा रहा है।

समूह की महिलाओं द्वारा कोरोना काल में 32 हजार फेस मास्क बनाये। समूह द्वारा रक्षाबंधन एवं दिवाली के अवसर पर दीये बनाए गए।

जिले में समूह की महिलाओं व परिवारों द्वारा टोकरी बनाने का कार्य किया जाता है, जिनके लिए बास उपलब्ध कराने के लिए समूह की महिलाओं द्वारा इसकी खेती किये जाने के लिए योजना तैयार की जानी है तथा मछली उत्पादन को भी बढ़ावा दिया जा रहा है।

राज्यपाल ने कृषि विभाग की योजनाओं यथा कृषक उत्पादन संगठन, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एवं किसान सम्मान निधि, कृषि सिचाई योजना की गहन समीक्षा की गयी तथा निर्देश दिया कि सरकार द्वारा चलाई जा रही किसानों की हितकारी योजनाओं का लाभ शत-प्रतिशत दिया जाए।

उप परियोजना निदेशक कृषि प्रसार डा0 रमेश चन्द्र यादव ने बताया कि 21 लक्ष्य के सापेक्ष 11 एफपीओ का गठन हो चुका है शेष का गठन मार्च तक पूर्ण कर लिया जायेगा।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि में अबतक 871699 किसानों का पंजीकरण किया जा चुका है, जिसमें से 705372 किसानों के खाते में 749 करोड़ जमा किये जा चुके है।

इस अपसर पर श्रीमती पटेल ने निर्देश दिया गया कि महिलाओं से जुडी समस्याओं जैसे कुपोषण, बाल विवाह की चर्चा अन्य कार्यक्रमों में भी किए जाए तथा इसके प्रति लोगो को जागरुक किया जाय।

बैठक में पुलिस अधीक्षक राजकरन नैय्यर, मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ला, उपायुक्त मनरेगा भूपेन्द्र सिंह सहित स्वयं सहायता समुह की महिलाएं तथा एफपीओ के सदस्य उपस्थित रहे।

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles